Lompat ke konten Lompat ke sidebar Lompat ke footer

Maa Shayari Jannat Nahi Maa Dekhi Hai

Maa Shayari Jannat Nahi Maa Dekhi Hai

Maa Shayari Jannat Nahi Maa Dekhi Hai

maan kee aagosh mein

pahaado jaayas sadame jhelatee hai umar bhar leke,

ik aulaad kee takaleef se maan to tootatee hai.


माँ की आगोश में

पहाडो जायस सदमे झेलती है उमर भर लेके,

इक औलाद की तकलीफ़ से माँ तो टूटती है।


pahaad jaise jhatake yugon se hote hain, lekin

bachche kee samasya se maan ko nukasaan hota hai.


पहाड़ जैसे झटके युगों से होते हैं, लेकिन

बच्चे की समस्या से मां को नुकसान होता है।


kaal maan kee bhagavaan mein, aaj maat kee aagosh mein,

ham ko duiya mein ye mat bade suhaane se mile.


काल मां की भगवान में, आज मात की आगोश में,

हम को दुइया में ये मत बडे सुहाने से मिले।


kal maan kee god mein, aaj maut kee aag mein,

ham is samay duniya mein do baar bade aanand se mile.


कल माँ की गोद में, आज मौत की आग में,

हम इस समय दुनिया में दो बार बड़े आनंद से मिले।


aansu nikale parades mein, mujhase pyaar ho gaya,

dokh na dookh se baat kee bin chitthee bin taare.


आंसु निकले परदेस में, मुझसे प्यार हो गया,

दोख न दूख से बात की बिन चिट्ठी बिन तारे।


hindee mein sarvashreshth maan shaayaree

bhool gaee hoon paradhaaniyaan jindagee kee sari,

maan aapanee bhagavaan mein jab mera sar rak let hai.


आँसू निकले परदेस में भीगा माँ का प्यार,

दुख ने दुख से बात की बिन चिट्ठी बिन तार।


bhool jaata hoon main pareshaan hoon zindagee kee saaree,

maan apanee god mein jab mera sar rakh letee hai.


हिंदी में सर्वश्रेष्ठ माँ शायरी

भूल गई हूं परधानियां जिंदगी की साड़ी,

माँ आपनी भगवान में जब मेरा सर रक् लेट है।


hai gaireeb meree maan phir bhee meree khyaal rakkhee hai,

mere leete rotee aur apane dil ke pyaarete khurachan raakhatee hain.


भूल जाता हूँ मैं परेशान हूँ ज़िंदगी की सारी,

माँ अपनी गोद में जब मेरा सर रख लेती है।


hai gareeb meree maan phir bhee mera khyaal rakhatee hai,

mere lie rotee aur apane lie pateele kee khurachan rakhata hai.


है गैरीब मेरी माँ फिर भी मेरी ख्याल रक्खी है,

मेरे लीते रोटी और अपने दिल के प्यारेते खुरचन राखती हैं।



है गरीब मेरी माँ फिर भी मेरा ख्याल रखती है,

मेरे लिए रोटी और अपने लिए पतीले की खुरचन रखता है।


baalen aakar bhee meree chaukhat se lat jaatee hai,

meree maan kee duaen bhee kitana aasar raakhatee hain.


बालें आकर भी मेरी चौखट से लट जाती है,

मेरी माँ की दुआएँ भई किटना आसर राखती हैं।


baalaen aakar bhee meree chaukhat se laut jaatee hain,

meree maan kee duaen bhee kitana asar rakhatee hain.


बालाएं आकर भी मेरी चौखट से लौट जाती हैं,

मेरी माँ की दुआएं भी कितना असर रखती हैं।


vo ujaala ho to maila ho ya managa ho to sas ta ho,

ye maan ke sar hai ye har dupatta muskuraata hai.


वो उजाला हो तो मैला हो या मनगा हो तो सस् त हो,

ये माँ के सर है ये हर दुपट्टा मुस्कुराता है।


vo ugala ho ke maila ho ya manhaga ho ke saste ho,

ye maan ka sar is pe har dupatta muskuraata hai.


वो उगला हो के मैला हो या मँहगा हो के सस्ते हो,

ये माँ का सर इस पे हर दुपट्टा मुस्कुराता है।


Posting Komentar untuk "Maa Shayari Jannat Nahi Maa Dekhi Hai"